न्यूट्रोपेनिक आहार क्या होता है ? क्यों कीमोथेरेपी दौरान इसे लेना चाहिए ?

Translate in other available languages to read this post by clicking on Flag-Language Menu below !

Use button above!



न्यूट्रोफिल रक्त कोशिकाएं हैं जो आपके शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करती हैं। यदि यह कम मात्रा में हो, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है और आपका शरीर बैक्टीरिया, वायरस और अन्य संक्रमणों से बचाव करने में कम सक्षम होता है।  केमो के दौरान न्यूट्रोफिल्स भी नष्ट होते हैं जिससे केमो के दौरान आमतौर पे न्युट्रोपेनिआ हो जाता है जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है और आप इन्फेक्शन जैसे तेज बुखार, निमोनिया, दस्त आदि के शिकार बन सकते हैं। इस स्थिति में एंटीबायोटिक दवाइयां भी सही से काम नहीं कर पाती, इसीलिए बचाओ करना बोहोत महत्वपूर्ण है।

न्यूट्रोपेनिक आहार को लोगों द्वारा खाद्य पदार्थों से बैक्टीरिया और फंगस जैसे अन्य कीटाणुओं से को कम करने में मदद करने के लिए दिया जाता है। आपके डॉक्टर आपकी व्यक्तिगत स्वास्थ्य आवश्यकताओं और लक्ष्यों के आधार पर भी इसकी सिफारिश कर करते हैं। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों के लिए भी इसकी सिफारिश की गई है – विशेष रूप से न्यूट्रोपेनिया वाले, जिनके शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं (न्यूट्रोफिल) की अपर्याप्त मात्रा होती है। इसको आमतौर पे आपके डॉक्टर टीएलसी कम है – ऐसा बताते हैं।

न्यूट्रोपेनिक आहार क्या है?

न्यूट्रोपेनिक आहार को लोगों द्वारा खाद्य पदार्थों से बैक्टीरिया और फंगस जैसे अन्य कीटाणुओं से को कम करने में मदद करने के लिए दिया जाता है।

सामान्य टिप्स:-पका हुआ खाना सबसे सुरछित होता है 

भोजन को खाने से पहले और बाद में अपने हाथ धोएं। सभी बर्तनों को भी ठीक तरह से साफ़ रखें और धोएं।
कच्चे खाद्य पदार्थों, विशेष रूप से मांस और अधपके अंडे से बचें। सभी मीट को अच्छी तरह से पकाएं।
खाने या छीलने से पहले ताजे फल और सब्जियों को अच्छी तरह से धो लें। पके हुए फल और सब्जियां खाना ठीक है।
सलाद से परहेज करें
बिना उबले हुए बने डेयरी उत्पादों से बचें।
पानी कम से कम एक मिनट के लिए उबला हुआ नहीं है या फिर फ़िल्टर किया हुआ नहीं है तो न लें। बोत्तलबन्द पानी ठीक है अगर इसे फ़िल्टर्ड या रिवर्स ऑस्मोसिस के रूप में साफ़ किया जा रहा है।

विस्तृत जानकारी नीचे लिखी गयी है।

न्यूट्रोपेनिक आहार का पालन करते हुए कुछ खाद्य पदार्थ जिन्हें आपको नहीं लेना चाहिए :-

फल और सब्जियों को खरीदने से पहले जरूर देखे इन इनपे फंगस तो नहीं -जैसे की नीचे फोटो में दिखाया गया है। ऐसे फल धोने का बाद भी हानिकारक होते हैं। अगर कच्चा फल खाना है तो साफ़ सुथरा फल देख के खरीदें, लाने के बाद अच्छे से धोएं (हो सके तो गर्म पानी में कुछ देर के लिए डूबा दें – उबालने की कोई जरुरत नहीं है – उबलने से फल फल जैसा नहीं लगेगा ) और तब छिलका हटा के खाएं। फल का जूस दुकान से बना के बिलकुल न ले। डिब्बाबंद जूस ले सकते हैं।

दूध को बॉईल करने के बाद ही लें – दही घर पे बना के ले सकते हैं, आज कल डिब्बाबंद दही जो मिलता है वह पस्तुरिसद दूध से बनता है वो भी ले सकते हैं। चीज़ न लेना बेहतर है।

पेय पदार्थ > सभी बोतलबंद या उबाला हुआ जल, डिब्बाबंद या बोतलबंद पेय जैसे की डिब्बाबंद जूस, सोडा, और ताज़ा बनाया हुआ हुआ चाय और कॉफी – ये ले सकते हैं।

क्या हम नॉन वेज खाना खा सकते हैं ?

हाँ आप खा सकते हैं लेकिन घर पर अच्छे से पका के बनाये, कम तेल मसाले के साथ बनायें। यदि आपके मुँह छाले पड़े हो तब न ले बेहतर है

हमे फल लेने को मना किया है ?

अगर कच्चा फल खाना है तो साफ़ सुथरा फल देख के खरीदें, लाने के बाद अच्छे से धोएं (हो सके तो गर्म पानी में कुछ देर के लिए डूबा दें – उबालने की कोई जरुरत नहीं है) और तब छिलका हटा के खाएं।

फल का जूस दुकान से बना के बिलकुल न ले। इस फोटो में आप देख सकते हैं की साफ़ सफाई बिलकुल ख्याल नहीं रखा गया है। अगर जूस पीना ही है तो घर पे अच्छे से फल फल को धो कर (ऊपर बताया गया है) घर पर ही बनायें। या फिर आप डिब्बाबंद जूस ले सकते हैं।

काजू किसमिस लेने से कोई परहेज करना चाहिए ?

ड्राई फ्रूट्स को रोस्ट (फ्राई/भून ) कर लें तब ले सकते हैं।


बाकि की जानकारी के लिए ऊपर का लेख ध्यान से पढ़ें, ज्यादातर सवालों के जवाब आपको मिल जायेंगे।